भारतीय ट्रेन के….Tapori Turaki

(Last Updated On: July 28, 2020)

भारतीय ट्रेन के एक डिब्बे में लिखा हुआ था़,
बिनाटिकट सफर करने वाले यात्री होशियार…
.
.
.
विकासने जब यह पढ़ा तो बोला, वाह जी वाह…हम क्या पागल है.
बिना तिकटवाले होशियार और हमने टिकट ली, तो हम बेवकूफ…! विकास अबतक पगलाया हुआ है…

***
मुँह दिखाई पर अविनाश नामक पतीने जुई नामकी बीवी को गुलाब का फूल भेंट किया, तो रूठ कर बोली, ये नहीं़ हमें कोई सोने की चीज दिला दो.
अविनाश झटसे बोला, ये ले तकिया और सो जा…
…जुई सोना सोना करके येडी हो गयी है.

***

हनीराणी : कहाँ पर हो ?
राजा : स्कूटर से गिर गया हूँ. एक्सिडेंट हो गया है। हॉस्पिटल जा रहा हूँ.
हनीराणी : ध्यान रखना, टिफिन टेढ़ा ना हो जाये, वरना दाल गिर जायेगी.
…सुना है की राजा अबतक हनीबनी गाना गाते स्कुटरपर घुम रहा है.

***

भरत्या जोराजोरात आणि तावातावातही बोलत होता़
…ते,नव्हे,मी काय म्हणतोय ? त्या बुलेट ट्रेनमध्ये विनातिकिट सापडलं तर कसं!
मित्र : तर काय?
भरत्या बेंबीला गाठ मारून बोलला, तर आपल्याला भारतातल्या जेलमध्ये ठेवणार का जपानला हाकलणार?
काही दिवसांपासून भरत्या पासपोर्टच्या कार्यालयाभोवती फेºया मारतोया…

***

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *